HomeNational

Air India One- जानिए क्या खासियत हैं प्रधानमंत्री के लिए बने इस विमान में?

India China LAC tension- चीन ने LAC पर बढ़ाई सेना की संख्या, एंटी एयरक्राफ्ट गनों को भी किया तैनात
राम मंदिर निर्माण में कार्य के दौरान भगवान शिव सहित देवी देवताओं की प्रचीन मूर्तियां मिली
मोदी के भाषण के दोनों पहलू
Air India One

भारत के वीआईपी बेड़े के लिए Air India One (एयर इंडिया वन) का हो रहा इंतजार गुरुवार को खत्म हो गया. राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए विशेष रूप से निर्मित B-777 विमान अमेरिका से भारत पहुंच गया. यह वाइड बॉडी एयरक्राफ्ट बोइंग B-747 जंबो एयरक्राफ्ट का प्लेसमेंट है. इसे टेक्सास के डलास में तैयार किया गया है.

यह विमान टेक्सास से सीधे दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड किया. यह अमेरिकी राष्ट्रपति के विमान Air Force One (एयर फोर्स वन) जैसा आधुनिक है. यह विमान मिसाइल हमलों को भी नाकाम कर देगा. यह स्पेशल एक्स्ट्रा सेक्शन फ्लाइट एयरक्राफ्ट है. Air India One एडवांस और सिक्योर्ड कम्युनिकेशन सिस्टम से लैस है. इसके चलते आकाश में भी ऑडियो व वीडियो कम्युनिकेशन फंक्शंस का इस्तेमाल किया जा सकता है, वह भी हैकिंग या टैपिंग की चिंता किये बिना. बोइंग-777 एयरक्राफ्ट लगातार 17 घंटे से भी अधिक वक्त तक उड़ सकता है. बोइंग-777 में एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम भी हैं.

मिनी मेडिकल चेकअप प्रेस के लिए भी है जगह

Air India One एयरक्राफ्ट के इंटीरियर डिजाइन काफी आकर्षक है, जिसे बोइंग ने हाल ही में मॉडिफाइ किया है. इसके अलावा अन्य कस्टमाइजेशन भी किये गये हैं. वीवीआइपी एयरक्राफ्ट बोइंग-777 में एक बड़ा केबिन, मिनी मेडिकल सेटअप है. प्रेस के लिए भी जगह है. रियर सीट्स इकोनॉमी क्लास कैटेगरी की हैं, जबकि बाकी सभी बिजनेस क्लास सीट हैं. दोनों विमानों की खरीद और इनके पुनर्निर्माण की कुल लागत लगभग 8,400 करोड़ रुपये आंकी गयी है.

रंग का भी रखा गया है खास ध्यान

इस विमान का रंग सफेद, हल्का पीला और नारंगी रंग है. देखने में यह बहुत सुंदर लग रहा है. विमान पर देश के राजचिह्न के साथ हिंदी में भारत और अंग्रेजी में इंडिया लिखा हुआ है.

Air India One एयरक्राफ्ट की खासियत

मिसाइल एप्रोच वार्निंग सिस्टम
इसमें लगे वार्निंग सिस्टम में लगे सेंसर की मदद से पायलट को मिसाइलों पर हमला करने में मदद मिलती है.


इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेयर जैमर
दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने का काम करता है. सेल्फ प्रोटेक्शन सुइट से लैस.
चाफ एंड फ्लेयर्स सिस्टम
रडार ट्रैकिंग मिसाइल से खतरा होने पर बादल नाम चाफ छोड़े जाते हैं, जिससे आगे छिपकर विमान निकल जाता है.
मिरर बॉल सिस्टम
डैनों में लगी यह तकनीक विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है. इसमें सेंसर लगे हैं, जो वायुसेना को खतरे का कवरेज देंगे.
डायरेक्शन इंफ्रारेड काउंटरमेजर सिस्टम
यह मिसाइल रोधी प्रणाली है, जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है. यह ऑटोमैटिक काम करेगा.
सुरक्षित सेटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम
विमान चाफ एंड फ्लेयर्स सिस्टम से लैस है. इससे रोशनीनुमा फ्लेयर्स मिसाइल को भ्रमित करने के लिए छोड़े जाते हैं. इनका तापमान जेट इंजन के नोजल या एक्जॉस्ट से ज्यादा 2,000 डिग्री फारेनहाइट होता है. इसमें सबसे आधुनिक और सिक्योर सेटेलाइट कम्युनिकेशन सिस्टम भी लगा है.
हवा में ईंधन भरने की सुविधा
इस विमान में हवा में ईंधन भरने की सुविधा है.एक बार ईंधन भरने पर यह विमान लगातार 17 घंटे तक उड़ान भर सकता है.
Get all latest news in Hindi related to politics, sports, entertainment, technology and business etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and World news in Hindi. 
Follow ASE News on Facebook, Twitter and Google News.