HomeMadhya Pradesh

Covid-19: राजधानी आज में 50 नए पॉजिटिव मिले, प्रदेश में 105 संक्रमित बड़े

MP Raya Sabha Election: कमलनाथ के बंगलें को कांग्रेस ने बनाया नया ‘वार रूम’
मध्य प्रदेश में पहली बार हुई वर्चुअल कैबिनेट बैठक, हुए कई अहम फैसले
मध्यप्रदेश में हो सकता है बड़ा प्रशासनिक फेरबदल

  • राजधानी के नए इलाकों में बढ़ा कोरोना का खतरा
  • हॉटस्पॉट बाणगंगा में चार मरीज मिले, 19 लोग होंगे डिस्चार्ज 

भोपाल । मध्यप्रदेश की राजधानी में रविवार को कोरोना के फिर आधा सैकड़ा नए मरीज सामने आए हैं। इन मामलों में नौ मरीज पहले से अस्पताल में क्वारंटाइन हैं, बाकी मरीजों कोभर्ती कराया जा रहा है। आज बाणगंगा में फिर और मरीज एक साथ मिले हैं। यहां पहले ही 40 के करीब मरीज मिल चुके हैं। इसके अलावा गोविंदपुरा, इतवारा, बुधवारा और जहांगीराबाद में नए मरीज मिले हैं। पुराने शहर के काजी कैंप की घनी बस्ती में भी नए मरीज मिले हैं। वहीं बैरागढ़ में पहले संक्रमित मिले व्यक्ति की संपर्क में आने वाले दो लोग पॉजिटिव आए हैं। आज पहली बार मछली मार्केट में कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। यहां संक्रमित के संपर्क में आने वाले लोगों की तलाश की जा रही है।

19 मरीजों की होगी छुट्टी

भोपाल में कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने का सिलसिला भी लगातार जारी है। रविवार को चिरायु अस्पताल से 19 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होंगे। आज राजगढ़ में चार और श्योपुर में भी एक मरीज कोरोना को मात देकर डिस्चार्ज किए गए हैं। बुरहानपुर में एक साथ 27- रविवार सुबह आई रिपोर्ट में बुरहानपुर में एक साथ 27 नए संक्रमित मिले हैं। इसके अलावा श्योपुर में 13,राजगढ़ में 8, और शाजापुर में 7 संक्रमित मिले हैं। शाजापुर में एक्टिव केस की संख्या 29 हो गई है। यह जिला दो पहले दो बार कोरोना मुक्त घोषित किया जा चुका था।

छतरपुर के चंदला थाने का पूरा स्टॉफ आईसोलेशन में

चार जून को जारी गांव में मामूली विवाद में आरोपी बनाई गई एक महिला कोरोना पॉजिटिव आई है। शनिवार देर रात आई रिपोर्ट में महिला के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि के बाद थाना प्रभारी सहित थाने के डेढ़ दर्जन स्टॉफ होम आईसोलेशन में भेजा गया है। 

इंदौर में कम पड रही संक्रमण की रफ्तार

इधर इंदौर में बीते एक सप्ताह से कोरोना की रफ्तार धीमी होने लगी है। बीते सप्ताह में किसी दिन 27,33, 35 तो किसी दिन 51 मामले आए हैं। बीती देर रात आई रिपोर्ट में भी 27 पॉजिटिव मिले हैं। वहीं रिकवरी दर भी इंदौर की तेजी से बढ़ रही है।