HomeMadhya Pradesh

MP-कांग्रेस के विधायक कुणाल चौधरी के बाद अब भाजपा विधायक ओमप्रकाश सकलेचा कोरोना की पॉजिटिव

my-portfolio

सीआरपीएफ के तीन जवानों समेत भोपाल में मिले 47 नये मरीज भोपाल. कोरोना ने अब माननीयों का पीछा करना शुरू कर दिया है। मप्र में कांग्रेस के विधायक कुण

अयोध्या राम मंदिर शिलान्यास: मध्यप्रदेश में मंदिरों में रामधुन और सुंदरकांड की गूंज सुनाई देगी
IPS आशुतोष प्रताप सिंह (Ashutosh Pratap Singh) फिर DPR नियुक्त
पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि के विरोध में कांग्रेस 24 जून को जिला/ शहर, ब्लाक मुख्यालयों पर करेगी विरोध प्रदर्शन

Coronavirus in Bhopal

सीआरपीएफ के तीन जवानों समेत भोपाल में मिले 47 नये मरीज 

भोपाल. कोरोना ने अब माननीयों का पीछा करना शुरू कर दिया है। मप्र में कांग्रेस के विधायक कुणाल चौधरी के बाद अब भाजपा के वरिष्ठ विधायक ओमप्रकाश सकलेचा इसकी चपेट में आ गये हैं, उनकी पत्नी भी संक्रमित बताई जा रही हैं। सकलेचा कल राज्यसभा के लिये हुए मतदान में शामिल हुए थे, इसके चलते अन्य भाजपा विधायकों में भी हडकंप की नौबत है, बताया जाता है कि कई विधायकों ने अब अपनी स्वास्थ्य जांच कराने के लिये अस्पतालों में संपर्क किया है।दरअसल कल सकलेचा ने राज्यसभा चुनाव के दौरान विस परिसर में कई लोगों से मेल-मुलाकात की थीं। सकलेचा जावद से विधायक हैं।बताया जाता है कि उनकी मां पहले ही कोरोना पॉजिटिव मिली थीं। सकलेचा का भोपाल में ही कोरोना टेस्ट किया गया था।जानकारी के मुताबिक इस खबर के सामने आते ही भाजपा विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया, देवी सिंह धाकड, दिलीप मकवाना आदि जांच के लिये जेपी अस्पताल पहुंच गए हैं। इधर भोपाल में फिर कोरोना पीड़ितों का नया समूह मिला है। इसमें 47 लोग कोरोना संक्रमित पाये गए हैं। चिंताजनक पहलू यह है कि पुराने भोपाल के अलावा नये क्षेत्र में भी मरीज मिलते जा रहे हैं।आज बंगरसिया के सीआरपीएफ कैंप में 3 जवान पॉजिटिव मिले हैं। वहीं गांधी मेडिकल कॉलेज की एक डाक्टर भी कोरोना पीड़ित मिली हैं। पुराने भोपाल के ऐशबाग में भी कई इलाकों से कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं।

सीएम,मंत्री समेत कई विधायक जांच के घेरे में

बीते कई दिनों से सकलेचा भोपाल में हैं और कई लोगों से मिलनाजुलना रख रहे हैं। कल वे मुख्यमंत्री-मंत्री व अफसरों के के भी संपर्क में आए थे। ये सभी भी कोरोना जांच के घेरे में आ सकते है। हालांकि इससे पहले विधायक को कोई लक्षण नहीं थे अब ये स्वास्थ्य अमले को तय करना है की विधायक को अस्पताल में भर्ती किया जाए या होम क्वारंटाइन किया जाए.गाइडगाइन के मुताबिक अगर सिगरेट होम आईसोलेशन की व्यवस्था विधायक के साथ है तो वो होम आइसोलेट भी रह सकते हैं।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: