HomeMadhya Pradesh

MP: गांव वहां, जहां रिश्वत से अपात्र भी हो जाते हैं पात्र

Bhopal Station पर खुलेंगे खानपान के स्टॉल, समोसा-कचौड़ी नहीं मिलेंगी
MP: Ujjain में एक साथ खड़ी सात बसों में लगी आग
देश के सर्वांगीण विकास के लिए समर्पित मोदी सरकार : डॉ अभय यादव

Shahdol News

शहडोल। इन दिनों पंचायतों मे अंधेर नगरी चौपट राजा टके सेर भाजी टके सेर खाजा की कहानी वास्तविक होती दिख रही है । इनमें से ऐसी ही एक ग्राम पंचायत ग्राम बलबहरा, ब्लाक बुढार जिला शहडोल की है।  ग्रामीणों  का कहना है कि  ग्राम पंचायत बलबहरा में काफी भ्रष्टाचार फैला हुआ है। जैसी गरीबी रेखा के सूची में जो पात्र व्यक्ति जो असहाय, लाचार एवं विधवा है जिसके पास ना घर है ना उसका कोई बच्चा है जिसके सहारे अपना जीवन यापन कर सकें और रहने के लिए एक झोपड़ी भी नहीं है । गरीब बेवा महिलाओं को गरीबी रेखा से वंचित किया गया है। इसके अलावा पीएम आवास के पात्रता सूची में भी सरपंच एवं सचिव द्वारा गड़बड़झाला किया गया है। कहा जाता है कि इस पंचायत में सारे नियम को ताक में रखकर घोर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। इस पंचायत में रिश्वत देकर अपात्र को पात्र बनाना आम बात है । जो इनके भ्रष्टाचार शामिल होते अथवा इनको रिश्वत देते उनका नाम गरीबी रेखा में जोड़ दिया जाता है और इसके साथ सीएम एवं पीएम आवास भी दे दिया जाता है। जिसके गाड़ी हो या फिर छत के ऊपर छत हो इनके लिए कोई नियम नहीं है। कहां जाता है कि इस भ्रष्टाचार के पीछे जनपद पंचायत में पदस्त अधिकारियों जैसे पी सी ओ एवं सी ई ओ का बड़ा योगदान है जिसके वजह से बलवारा ग्राम पंचायत की कोई जांच नहीं हो रही है।  अगर ऐसी पंचायतों की निष्पक्ष जांच होने लगे तो काफी भ्रष्टाचारों को उजागर किया सकता है ।