HomeMadhya Pradesh

MP: शिक्षा विभाग में पदस्थ कर्मचारी ने गरीब आदिवासी जमीन पर किया अतिक्रमण

शिवराज चंबल एक्सप्रेस-वे पर झूठ बोल रहे हैं: सज्जन सिंह वर्मा
भोपाल में बेलगाम होता कोरोना, आज फिर मिले 62 नए पॉजिटिव
Shahdol News- जब सैंया भए कोतवाल तो डर काहे का

Atyachar

शहडोल.‌ आदिवासी बाहुल्य जिले शहडोल मे दबंग द्वारा गरीब बैगा जनजाति‌ के आदिवासी पर अत्याचार का मामला सामने आयाा है। डहरु बैगा की जमीन को धनबल के प्रयोग से कागजातों पर अपना नाम दर्ज करवा लिया कर ‌शिक्षा विभाग में पदस्थ क्लर्क मोहन ढीमर द्वारा जमीन को अपना बताया जा रहा  है। 

डहरु बैगा (उम्र 65 वर्ष) ने बताया कि मैं ग्राम पंचायत खामीडोल का पुश्तैनी निवासी हूं मेरे पिता के जमाने विगत 70-80 साल पूर्व से मध्य प्रदेश शासन की भूमि रकवा 3.81 एकड़ (खसरा नंबर (1415) को बड़ी परिश्रम व पूंजी लगाकर कृषि योग्य बनाकर कृषि कार्य करते चले आ रहे हैं उपरोक्त भूमि में मुझे वर्ष 2018 में अर्थदंड से दंडित भी किया गया था तथा उपरोक्त भूमि राजस्व अभिलेख में मेेेरा नाम वर्ष 1988 एवं 89 से दर्ज अभिलेख चला आ रहा है।
पिछले वर्ष से गांव के ही मोहन ढीमर जो विकासखंड बुढार के रामपुर हायर सेकेंडरी स्कूल में बाबू पद पर पदस्थ है के द्वारा पटवारी ज्ञान सिंह से सांठ-गांठ कर अभिलेखों में अपने पक्ष में कब्जा चढ़ावा कर परेशान किया जा रहा है.
डहरु बैगा ने बताया कि जमीन को न छोड़ने पर मोहन ढीमर जान से मारने की धमकी देता है। इस मामले में मैंने अनुविभागीय अधिकारी जैतपुर, तहसीलदार जैतपुर, कलेक्टर और आदिवासी विकास आयुक्त शिकायत की आज महीने गुजर जाने पर भी पत्र का कोई जवाब नहीं मिला.
राजस्व लेखे के कार्य में पटवारी की भूमिका अहम होती है और अगर यही व्यक्ति भ्रष्टाचार करने लगे तो ऐसे मामले सामने आते हैं।
Get all latest news Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with ASE News all breaking news from India News and World news in Hindi.