HomeMadhya Pradesh

MP Raya Sabha Election: कमलनाथ के बंगलें को कांग्रेस ने बनाया नया ‘वार रूम’

my-portfolio

कांग्रेस राज्यसभा सीटों के लिए झोंकी ताकतभोपाल । मध्यप्रदेश में राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का निवास को वार रूम बनाया गया है। यह दिन

हमीदिया अस्पताल में तीन प्रवेश निर्गम द्वार शुरू करने के निर्देश
मरणासन्न हालत में लाया गया तेंदुआ स्वस्थ्य होकर वापस जंगल पहुँचा
मध्यप्रदेश में हो सकता है बड़ा प्रशासनिक फेरबदल

कांग्रेस राज्यसभा सीटों के लिए झोंकी ताकत

Kamal Nath

भोपाल । मध्यप्रदेश में राज्यसभा चुनाव के लिए कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का निवास को वार रूम बनाया गया है। यह दिनभर बैठके चल रही है। कांग्रेस को राज्यसभा के लिए कठिन लक्ष्य तय करना है। कल देर रात पार्टी चीफ कमलनाथ ने अपने सरकारी निवास पर 9 सिविल लाइंस में एक खास बैठक बुलाकर इसपर विस्तार से चर्चा की है। लक्ष्य है तीन से में दो सीटें हासिल करने किसके लिये आगामी कुछ दिन तक कांग्रेस आंतरिक ‘संपर्क अभियान पर है। पार्टी के है। राज्यसभा के लिए कांग्रेस ने कठिन लक्ष्य किया है। कल देर गत पार्टी चीफ कमलनाथ ने अपने सरकारी निवास पर 9 सिविल लाइंस में एक खस बैठक बुलाकर इस पर विस्तार से चर्चा की है। कांग्रेस का लक्ष्य तीन से में दो सीटें हासिल कर ले किसके लिये आगामी कुछ दिन तक कांग्रेस आंतरिक ‘संपर्क अभियान पर है। पार्टी के रणनीतिकारें को उन से निर्दलीय सपा-बसपा विधायकों पर फिर भरोसा है जो मार्च में डांवाडोल हो हे थे! इस बैठक में दिग्विजय सिंह,एनपी प्रजाति, सज्जन वर्मा भी मौजूद थे। जानकार सूत्रों के मुताबिक बैठक में तय किया गया कि कांग्रेस हर हाल में उसी स्थिति में चुनाव लड़ेंगे,जो स्थिति उसकी राज्यसभा चुनाव का ऐलान होते वक्त फरवरी-मार्च में थी। यानि कांग्रेस दो सीटों पर जीत की हरचंद कोशिश करेगी। इसके लिए कमलनाथ और दिग्विजय सिंह विधायकों से संपर्क करेंगे।बताया जाता है कि कांग्रेस का पूर फोकस शिवराज सरकार के कैबिनेट विस्तार पर है। इसके मुताबिक ही कांग्रेस अपने पत्ते खोलती जाएगी। नेताओं को लगता है कि कैबिनेट विस्तार के बाद भाजपा विधायकों में असंतोष फैल सकता है। एक सूत्र की माने तो चार गैर कांग्रेसी विधायकों थे जो कांग्रेस के संपर्क में है।
दूसरी ओर कांग्रेस ने अपने विधायकों को भी लामबंद रखने के जतन चला रखे हैं। आगामी 17 और 18 जून को भोपाल में सभी विधायक मौजूद रहेंगे। पहले दिन विधायकों को नाथ के निवास पर राज्यसभा चुनाव संबंधी ‘प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस दिन वोटिंग का बंटवारा भी होगा। चुनाव के दिन सभी विधायक कमलनाथ के साथ उनके निवास विधानसभा रवाना होंगे।
गौरतलब है कि तीन वर्ष पहले विवेक तन्खा के राज्यसभा निर्वाचन के समय भी कमलनाथ ही कांग्रेस विधायकों के सूत्रधार बने थे  सभी कांग्रेस विधायक एक साथ रहे और साथ रवाना हुए थे।अभी कांग्रेस के पास 92 विधायक हैं और दो सीटें जीतने के लिये उसे 104 की दरकार है।इधर वरिष्ठ कांग्रेस नेता जेपी धनोपिया का कहना है भाजपा की अंदरूनी स्थिति खराब है,यदि कैबिनेट का विस्तार हो गया तो भाजपा को दो राज्यसभा सीटें जीतने के लाले पड़ सकते हैं।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0