HomeNationalNarendra Modi

PM मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाली भगवान राम की पूजा में शामिल हो सकते हैं

नई शिक्षा नीति भारतीय भाषाओं को उनका स्थान दिला पाएगी ?
नई शिक्षा नीति भारतीय भाषाओं को उनका स्थान दिला पाएगी ?
संविधान के मजबूत प्रहरी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
Narender modi
(Image source- Getty images)

अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) 5 अगस्त को भूमि पूजन में शामिल हो सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री अयोध्या में भूमिपूजन में हिस्सा लेकर इसे संपन्न करा सकते हैं.

इससे पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की शनिवार को बैठक हुई. अयोध्या में राम  मंदिर बनाने के लिए ट्रस्ट की मीटिंग करीब ढाई घंटे चली. 
Ram mandir ayodhya
(Image source- Getty images)

इस मीटिंग में इस पर चर्चा की गई कि भूमिपूजन की तारीख क्या हो. यह भी तय हुआ है कि अब मंदिर पहले से काफी बड़ा बनाया जाएगा. खबर ये भी है कि प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) को राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीख भेजी गई है.

5 अगस्त को हो सकता है भव्य राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन

जिसमें से 5 अगस्त की तिथि पर पीएमओ की मुहर लग गई है। यह सूचना ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास ने दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 5 अगस्त को अयोध्या जा सकते हैं.  इसी दिन भूमि पूजन का कार्यक्रम संपन्न होने की संभावना है.
राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम 5 अगस्त को 8 बजे शुरू हो सकता है. प्रधानमंत्री उस दिन 11 से 1 बजे के बीच अयोध्या पहुंच सकते हैं. प्रधानमंत्री के आने के बाद मंदिर निर्माण तेजी से चलेगा। कमल नयन दास ने बताया कि मंदिर निर्माण की तैयारी लगभग पूरी है क्योंकि प्रधानमंत्री को भूमि पूजन का अनुष्ठान करना है। 
ट्रस्ट की बैठक में विशेषज्ञों की राय से मंदिर को और बड़ा बनाने का भी फैसला हुआ. पहले मंदिर में तीन शिखर बनने थे, अब पांच शिखर बनेंगे. राम जन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल ने कहा कि ‘नक्शे में कोई परिवर्तन नहीं होगा. भव्यता के लिए ऊंचाई बढ़ जाएगी
महासचिव चंपत राय ने मीडिया को बताया कि कोरोना की स्थिति से निपटने के बाद फंड एकत्र किया जाएगा. मंदिर की ऊंचाई 148 फीट से बढ़ाकर  ऊंचाई 161 फीट होगी. मंदिर परिसर के चारों कोनों पर सीता जी, लक्ष्मण जी, भरत जी और गणेश जी के चार मंदिर बनाने की भी राय आई है. श्रीराम का भव्य और दिव्य मंदिर तीन से साढ़े तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा.
के भूमि पूजन का कार्यक्रम कोरोना की वजह से छोटा रखा जाए. इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) उनका स्टाफ, उनकी सुरक्षा के लोग, सीएम योगी, उनकी सुरक्षा और स्टाफ के लोग और कुच्छ वरिष्ठ नेता और साधु संत ही मौजूद रहें.
Get all latest in Hindi related to politics, sports, entertainment, technology and business etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and World news in Hindi. 
Follow ASE News on Facebook, Twitter and Google News.