HomeMadhya Pradesh

Shahdol News- जब सैंया भए कोतवाल तो डर काहे का

my-portfolio

‌शहडोल। मामला जनपद पंचायत बुढार का है जहां उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी  के द्वारा मुख्यमंत्री द्वारा चलाए गई महत्वपूर्ण योजनाओं को भ्रष्टाचार की त

भोपाल में बेलगाम होता कोरोना, आज फिर मिले 62 नए पॉजिटिव
मोदी सरकार की उपलब्धियों को आमजन तक ले जाएं – विष्णुदत्त शर्मा
मध्यप्रदेश में फसे केरल के छात्र-छात्राओं को प्रदेश कांग्रेस ने बस द्वारा केरल रवाना किया गया : कांग्रेस
Complaint letter
शहडोल। मामला जनपद पंचायत बुढार का है जहां उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी  के द्वारा मुख्यमंत्री द्वारा चलाए गई महत्वपूर्ण योजनाओं को भ्रष्टाचार की तरफ मोड़ रहीं हैं। ए स्ट्रेट एक्सप्रेस के संवाददाता को जिला पंचायत सदस्य नाथू लाल चौधरी ने बताया कि उप यंत्री पुष्पांजली तिवारी‌ केसवाही सेकटर के ग्राम पंचायत झिरिया में पदस्थ रहीं तो इन्होंने ग्राम वासियों को लूटने के अलावा कुछ नहीं किया। इनके कारनामे का एक छोटा सा उदाहरण यह है कि मुख्यमंत्री के द्वारा पशु शेड योजना चलाई जा रही है इसी के अंतर्गत ग्राम झिरिया के कुछ हितग्राही गण योजना का लाभ लेने के लिए पंच सरपंच से मिलने पंचायत गए और योजना के बारे में पूछा गया सरपंच सचिव के द्वारा कहा गया कि अपना अपना रिकॉर्ड पंचायत में जमा कर दीजिए आपका काम हो जाएगा।

हितग्राही गण अपना अपना रिकॉर्ड ले जाकर ग्राम पंचायत में जमा कर दिए कुछ दिनों बाद जब उन्हें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो पुनः पंचायत में जाकर पूछा गया जवाब के तौर पर सरपंच सचिव के द्वारा कहा गया कि आप लोग उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी से मिलिए वही आपका काम करेंगे हितग्राहियों ने जब उपयंत्री से मिला गया तो उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी के द्वारा कहां गया आप लोगों को कुछ खर्चा देना होगा तब आपका काम जल्दी हो जाएगी गरीब हितग्राहियों के मन में प्रलोभनों की लड्डू फूटने लगी और उनके द्वारा पूछा गया कि कितना खर्चा लगेगा उपयंत्री के द्वारा कहा गया आप लोगों को पांच ₹5000 पर हितग्राही को देना होगा गरीब हितग्राही गण कहीं से कर्जे में लेकर ₹5000 उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी दे दिए उपयंत्री के द्वारा आश्वासन दिया गया आप लोगों का काम जल्दी हो जाएगी पशु सेट की पैसा आपके खाते में आएगी मैं जल्दी काम करवा दूंगी।
हितग्राहियों ने 1 महीने तक इंतजार किया जब उनके खाते में पशु सेट का पैसा खाते में नहीं आया नहीं आया तो उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी से संपर्क किया गया तो इनके द्वारा कहा गया कि अब मैं आपका उपयंत्री नहीं रही आपके यहां दूसरे उपयंत्री आ गए हैं उनसे आप अपना काम करा लीजिए जब हितग्राहियों ने अपनी दी हुई रकम वापस मांगा गया तो उपयंत्री के द्वारा मना कर दिया गया और गुस्से में आकर धमकी भरी आवाज में कहां गया की तुम लोगों का पैसा मेरे पास नहीं है और अगर ज्यादा होशियारी दिखाने का कोशिश किए तो मेरे पति पुलिस में है तुम लोगों को जेल की हवा खिला दूंगी और मुझसे इस बारे में बात मत करना हितग्राही प्रेमचंद महारा, राम विशाल विश्वकर्मा और भीमसेन बैगा उपयंत्री पुष्पांजलि तिवारी की धमकी भरी बातों से भयभीत होकर उच्च पदाधिकारियों के दरवाजा खटखटाने लगे लेकिन इनकी शिकायत को जिला प्रशासन ने अनदेखी कर दी है।

(त्रिवेणी यादव द्वारा)

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0